Sunday, May 19, 2024
Sunday, May 19, 2024
Homeदेश विदेशमध्‍य प्रदेश के नगरीय निकायों में नियुक्त होंगे एक हजार 930 एल्डरमैन

मध्‍य प्रदेश के नगरीय निकायों में नियुक्त होंगे एक हजार 930 एल्डरमैन

Published on


भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में 12-12 एल्डरमैन होंगे नियुक्त





विधानसभा में नगरीय विकास एवं आवास विभाग नगर पालिक अधिनियम में संशोधन विधेयक करेगा प्रस्तुत







भोपाल:- प्रदेश में 46 नगरीय निकायों के चुनाव की प्रक्रिया पूरी होने के बाद राजनीतिक नियुक्तियां का सिलसिला प्रारंभ होगा। सरकार नगरीय निकायों में एक हजार 930 एल्डरमैन (मनोनीत पार्षद) नियुक्त करेगी। भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर नगर निगम में 12-12 एल्डरमैन नियुक्त किए जाएंगे। यह संख्या अभी छह-छह है। इसमें वृद्धि के लिए नगरीय विकास एवं आवास विभाग आज से प्रारंभ होने वाले विधानसभा के मानसून सत्र में नगर पालिक और नगर पालिका अधिनियम में संशोधन विधेयक प्रस्तुत करेगा।





Www.timesofmadhyapradesh.com






प्रदेश के नगरीय निकायों में प्रशासनिक और नगर पालिक व नगर पालिका अधिनियम के जानकारों को एल्डरमैन के रूप में नियुक्त करने का प्रविधान है। आमतौर पर क्षेत्र के सक्रिय पार्टी कार्यकर्ताओं को एल्डरमैन नियुक्त करने के लिए संगठन की ओर से नाम प्रस्तावित किए जाते हैं। परिषद के कार्यकाल तक इनका भी कार्यकाल रहता है। अभी नगर निगम में छह, नगर पालिका में चार और नगर परिषद में दो वरिष्ठ पार्षद मनोनीत किए जा सकते हैं।









विभागीय अधिकारियों का कहना है कि नगरीय निकायों की जनसंख्या बढ़ गई है, इसलिए प्रविधान में संशोधन आवश्यक हो गया है। नई व्यवस्था में दस लाख से अधिक जनसंख्या वाले निगम (भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर) में 12-12 और शेष निगम (उज्जैन, छिंदवाड़ा, मुरैना, खंडवा, बुरहानपुर, कटनी, रतलाम, देवास, सागर, रीवा, सिंगरौली और सतना) में दस-दस एल्डरमैन मनोनीत किए जा सकेंगे। इसी तरह नगर पालिका में चार की जगह छह और नगर परिषद में दो के स्थान पर चार एल्डरमैन नियुक्त होंगे। प्रदेश में 16 नगर निगम, 99 नगर पालिका और 298 नगर परिषद हैं।







भाजपा के बागियों को मिलेगा मौका





नगरीय निकाय चुनाव के दौरान बहुत सारे बागी प्रत्याशियों ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र दाखिल कर दिया था, ऐसे लोगों से नामांकन पत्र वापस लेने के लिए उन्हें एल्डरमैन बनाने का वादा किया गया था। यही वजह है कि हर निकाय में एल्डरमैन की संख्या बढ़ाकर दोगुनी की जा रही है। गौरतलब है कि कमल नाथ सरकार के दौरान भी एल्डरमैन नियुक्ति की प्रक्रिया जोर-शोर से चली थी लेकिन कांग्रेस सरकार एल्डरमैन की नियुक्ति नहीं कर पाई थी।




Latest articles

कार में दम घुटने से 3-साल की बच्ची की मौत:दो घंटे तक रही बंद

माता-पिता शादी समारोह में व्यस्त थे 10 दिन पहले मनाया था बर्थ-डे कोटा- कार में...

बस और ट्राले की भिड़ंत में चुनावी ड्यूटी से आ रहे हैं बस में सवार 7 कर्मचारी घायल 2 गंभीर

सुवासरा:- आज सुबह-सुबह सुवासरा मंदसौर रोड पर राठौर कॉलोनी के पास बस और ट्राले...

वन विभाग ने सागौन के 85 लट्ठे जप्त किये, आरा मशीनों की जांच भी की….

मन्दसौर। 9 मई 2024, गुरूवार को श्री संजय रायखेरे वनमण्डलाधिकारी सामान्य वनमण्डल मंदसौर के...

10 Best Places to visit in Pachmarhi

 "Discover the enchanting beauty of Pachmarhi with our curated list of the best places...

More like this

कार में दम घुटने से 3-साल की बच्ची की मौत:दो घंटे तक रही बंद

माता-पिता शादी समारोह में व्यस्त थे 10 दिन पहले मनाया था बर्थ-डे कोटा- कार में...

बस और ट्राले की भिड़ंत में चुनावी ड्यूटी से आ रहे हैं बस में सवार 7 कर्मचारी घायल 2 गंभीर

सुवासरा:- आज सुबह-सुबह सुवासरा मंदसौर रोड पर राठौर कॉलोनी के पास बस और ट्राले...

वन विभाग ने सागौन के 85 लट्ठे जप्त किये, आरा मशीनों की जांच भी की….

मन्दसौर। 9 मई 2024, गुरूवार को श्री संजय रायखेरे वनमण्डलाधिकारी सामान्य वनमण्डल मंदसौर के...